कारखाना मे बाल वधु बनने से बची दो लड़कियां, चाईल्ड हैल्पलाईन पर हुई थी शिकायत

सत्यखबर सफीदों (महाबीर मित्तल) – उपमण्डल सफीदों के गांव कारखाना मे एक दलित परिवार मे दो लड़कियों की शादी को लेकर किसी व्यक्ति ने चाईल्ड हैल्पलाईन पर सूचना दी कि जिन दो लड़कियों का विवाह जिला करनाल के गांव निगधु के दो युवकों के साथ होने वाला है वे दोनो ही नाबालिग हैं। लड़कियों की शादी के निर्धारित समय से पहले ही जिला बाल विवाह निषेध अधिकारी रवि लोहान, एएसआई राजबीर सिंह, महिला कांस्टेबल रेनू, एसपीओ सुरेशकुमार की टीम गांव मे पहुंची जिसने लड़कियों के परिजनों से उनके जन्म की तारीख से स बन्धित दस्तावेजात दिखाने को कहा।

लोहान के अनुसार पहले को परिजनों ने दस्तावेज दिखाने से आनाकानी करते हुए दावा किया कि दोनो लड़कियां बालिग हैं लेकिन बाद मे वे सहमत हो गए और प्रस्तुत दस्तावेजों मे देखा तो दोनो ही लड़कियां नाबालिग थी जिनकी शादी ना करने को लड़कियों के परिजनों को सहमत किया गया। लोहान ने बताया कि मौके पर गांव के कई मौजिज व्यक्तियों को बुलवाया गया जिनके सामने लड़कियों के परिजनों को बाल विवाह निघेध अधिनियम की जानकादी देते हुए उसके प्रावधानों बारे बताया गया तो परिजन सहज ही इस बात पर सहमत हो गए कि वे बालिग होने पर ही इन लड़कियों की शादी करेंगे जबकि अन्य ग्रामीणों का कहना था कि परिजन अनपढ हैं जिन्हें बाल विवाह निषेध अधिनियम की जानकारी नही थी। लोहान के अनुसार परिजनों ने इस आशय काका बयान लिखित मे उनकी टीम को दिया। समय रहते निगधु गांव मे वर पक्ष को इस बारे सूचित कर दिया गया।

error: Copy... Paste is not allowed...