गुब्बारे बेचने के नाम पर मध्यप्रदेश से ठगी करने पंचमी पर्व में पहुंचती थी महिलाएं

सत्यखबर तरावड़ी (रोहित लामसर) – ऐतिहासिक स्थल शीशगंज गुरुद्वारे में पंचमी पर्व के अवसर पर गुब्बारे बेचने के नाम पर महिलाओं का एक गिरोह गुब्बारे बेचते हुए महिलाओं एवं श्रद्धालुओं को ठगी का शिकार बनाता था। इस गिरोह की खास बात यह थी कि इस गिरोह की महिलाएं बेटियों के साथ-साथ बच्चों से भी ठगी करवाते थे, ताकि किसी को भी इन बच्चों पर जरा भी शक न हो। तरावड़ी पुलिस ने महिलाओं के गिरोह में चार छोटे बच्चों के साथ-साथ दो युवतियों को भी हिरासत में लिया है। तरावड़ी थाना प्रभारी जसमेर सिंह ने बताया कि तरावड़ी पुलिस ने ठगी करने वाले गिरोह में जिन महिलाओं एवं अन्य को काबू किया था, उन्हें अदालत में पेश किया गया। आपको बता दें कि इसी तरह का गिरोह तरावड़ी में काफी समय से सक्रिया था।

हर पंचमी के अवसर पर महिलाओं के साथ-साथ श्रद्धालु व सेवादार ठगी का शिकार होते थे, लेकिन अब सेवादारों की मदद से इस गैंग का पर्दाफाश हुआ, जिनमें पुलिस ने चार बच्चों व दो युवतियों समेत 19 महिलाओं को काबू किया है। आपकों बता दें कि ऐतिहासिक कस्बे तरावड़ी में मौजूद शीशगंज गुरुद्वारे में आज बसंत पंचमी के अवसर पर जब श्रद्धालु लोगों की सेवा कर रहे थे तो वहां पर मौजूद चोरी छिपे एक गैंग लोगों की जेबें साफ कर रहा था। करीब एक दर्जन से अधिक मोबाईल श्रद्धालुओं की जेबों से गायब हो गए, कुछ लोगों की जेबों से जरूरी सामान व नगदी गायब हो गई। अचानक गुरुद्वारे में सूचना कर दी गई कि लोगों की जेबों से सामान साफ हो रहा है। फिर अचानक लोग सक्रिय हो गए। लोगों ने आसपास नजरें दौड़ाई तो धीरे-धीरे कुछ महिलाएं लोगों ने काबू कर ली। बाद में बच्चे भी लोगों ने पकड़ लिए। तुरंत इस गैंग की सूचना पुलिस को दी गई। सूचना मिलते ही सेवादार भी सक्रिय हो गए।

पुलिस तो तब पहुंची जब पूरा गैंग काबू कर लिया गया। बताया जा रहा है कि इस गैंग में आधा दर्जन से अधिक महिलाएं युवतियां और बच्चे शामिल थे। पकड़े गए आरोपियों से 14 मोबाईल और नगदी बरामद की गई है। इसके अलावा उनके पास एक चाकू भी था। कुछ लोगों की चैन स्नैचिंग भी हुई है। इधर तरावड़ी के थाना प्रभारी जसमेर सिंह से जब पूछा गया तो उन्होंने बताया कि मोबाईल और नगदी बरामद कर ली गई है। फिलहाल पकड़े गए आरोपियों से पूछताछ की जा रही है। अभी मामला दर्ज नही किया गया है। जांच के बाद ही मामला दर्ज होगा। बताया जा रहा है कि आज बंसत पंचमी का त्यौहार था। हजारों श्रद्धालु गुरुद्वारे में माथा टेकने तथा गुरुवाणी सुनने के लिए आए हुए थे।

जब एक के बाद एक लोगों की जेब से मोबाईल साफ होने लगे तो इसकी सूचना वहां पर मौजूद सेवादारों को दी गई। इसके अलावा यह बात गुरुद्वारे में तेजी से फैल गई कि लोगों की जेबों से नगदी और मोबाईल साफ हो रहे हैं। सेवादार के साथ-साथ लोग भी सक्रिय हो गए। लोगों ने सेवादारों की मदद से जेब तराशने वाली महिलाओं, युवतियों और बच्चों को काबू कर लिया। बताया जा रहा है कि यह सब आरोपी मध्यप्रदेश व बाहर के रहने वाले हैं। बसंत पंचमी के अवसर पर यह गुरुद्वारे के बाहर सामान बेचने के लिए फड़ी लगाकर बैठे हुए थे। जैसे ही गुरुद्वारे में भीड़ हो गई तो गैंग के लोगों ने काम करना शुरू कर दिया। फिलहाल पुलिस आरोपियों से पूछताछ करने में जुटी है।

error: Copy... Paste is not allowed...