बुराड़ी हादसे के बाद, पानीपत में एक पुरे परिवार ने की ख़ुदकुशी

सत्यखबर, पानीपत (बोबी दुआ) – पिछले दिनों बुराड़ी में एक हस्ते खेलते परिवार के 11 सदस्यों ने सामूहिक ख़ुदकुशी से समाज को हिला कर रख दिया, मोत का रहस्य अभी भी बरकरार है। आज पानीपत में एक लोहा व्यापारी ने अपनी पत्नी और दो मासूम बच्चो के साथ ख़ुदकुशी करने के लिए पति -पत्नी ने चुन्नी से फांसी व बच्चो को जहर दिया गया, पिता व दोनों बच्चो की हुई मोत, पत्नी निजी हस्पताल में जिंदगी से लड़ रही जंग। ख़ुदकुशी के कारणों का नहीं हुआ खुलासा, फोरेंसिक टीम के साथ पुलिस जाँच में जुटी। पुलिस को पोस्टमार्टम के बाद खुलासे की उम्मीद।

पानीपत में लोहा व्यापारी ने परिवार सहित जान देने की सुचना ने शहर में लोगो को सोचने पर किया माजबूर। आखिर क्यों पूरा का पूरा परिवार देने लगे है जान आखिर लाचारी है या कोई और। पानीपत के पॉश इलाके सेक्टर 11 में एक ही परिवार के दो बच्चो सहित 3 लोगों की मौत। जानकारी के अनुसार रितेश गर्ग सेक्टर 11 में मकान नंबर 17 में किराए पर रह रहा था। बीती रात 9:30 बजे उसकी पत्नी रेखा के परिजनों ने फोन पर बात करनी चाही तो किसी ने फोन नहीं उठाया, जिस पर उसने मकान के मालिक अनिल बत्रा को फोन करके फोन ना उठाने की बात कही। मकान मालिक रितेश गर्ग को उसके ससुराल से फोन आने की सूचना देने पहुंचा। बार-बार दरवाजा खटखटाने पर भी किसी ने दरवाजा नहीं खोला तो उसने खिड़की से झांक कर देखा तो कमरे के अंदर का नजारा देखकर वह हैरान रह गया और उसने तुरंत मामले की सूचना पुलिस को दी।

बुराड़ी मामले की तरह पानीपत में भी एक परिवार ने सामूहिक सुसाइड किया। मकान मालिक अनिल के अनुसार रितेश गर्ग और उसकी पत्नी रेखा दोनों ने फंदा बनाकर फांसी ली थी, मगर फंदा खुलने के कारण रेखा बच गई और उसे गंभीर हालत में एक निजी अस्पताल में उपचार के लिए दाखिल कराया गया है। रितेश के बेटे वंश और पुत्री पुष्टि को जहर दिया गया है जिससे दोनों की मौके पर मौत हो गई मामले की सूचना पाकर मौके पर पहुंची पुलिस ने दो बच्चो सहित पिता रितेश के शव को कब्जे में ले पोस्टमार्टम के लिए पानीपत के सिविल हॉस्पिटल में रखवा मामले की जांच सुरु कर दी है।

error: Copy... Paste is not allowed...