बेटी बचाओ, बेटी पढ़ाओ और बेटी को आगे बढ़ाओ मुहिम

IMG_20190214_152533.JPG
-बेटी बचाओ, बेटी पढ़ाओ और बेटी को आगे बढ़ाओ मुहिम
महिला पुलिस भर्ती के लिए निशुल्क सुविधाएं दी बलबीर चौधरी
-जितने दिन भी भर्ती के लिए आई महिला पंचकूला रुकेंगी मुफ्त रहने और खाने की व्यवस्था
-महिलाओं की सुरक्षा के लिए विशेष महिला कर्मी रखे
—घर और होटल में लगभग 600 महिला उम्मीदवारों के लिए व्यवस्था
—रोजाना 40 से 50 हजार रुपये का होगा खर्च
सत्यख़बर, पंचकूला 14 फरवरी। बेटी बचाओ, बेटी पढ़ाओ के बाद बेटी को आगे बढ़ाने की जिम्मेदारी समझते हुए हरियाणा जाट समाज कल्याण परिषद के चेयरमैन चौधरी बलबीर सिंह दंदयान ने एक साकारात्मक पहल की है। हरियाणा पुलिस में इन दिनों भर्तियां चल रही है, जिस कड़ी में पंचकूला में फिलहाल लडक़ों की भर्ती चल रही है और इसके तीन दिन के लिए लड़कियों की भर्ती प्रक्रिया शुरु हो होगी। महिला पुलिस में भर्ती के लिए चार राज्यों से लड़कियों के पंचकूला पहुंचने की संभावना है। चार राज्यों से आने वाली बेटियों को इस दौरान कोई परेशानी ना हो, इसके लिए चौधरी बलबीर सिंह दंदयान ने अपनी बेटी बचाओ, बेटी पढ़ाओ के बाद बेटी को आगे कैंपेन के तहत इन बेटियों के लिए अपने सेक्टर 21 स्थित होटल इंडियन पैलेस, उनके सेक्टर 6 स्थित निवास स्थान जोकि इन दिनों खाली है, में नि:शुल्क रहने और खाने की व्यवस्था की की है। चार राज्यों से आने वाले बेटियों को होटल के हॉल में सोने के लिए बिस्तर, रजाई, तकिया दिया जाएगा। सुबह, दोपहर और रात को खाना, चाय बिल्कुल फ्री दी जाएगा। इनकी सुरक्षा और खाने पीने की देखरेख के लिए विशेष तौर महिला कर्मियों की भी रखे गये हैं। लगभग 600 महिलाओं उम्मीदवारों पर रोजाना लगभ 40 से 50 हजार रुपये का खर्च होगा।
भर्ती प्रक्रिया सेक्टर 3 स्थित ताऊ देवी लाल खेल स्टेडियम में चल रही है। बलबीर दंदयान ने घोषणा की है कि सेक्टर 21 से सेक्टर 3 तक जाने के लिए भी बेटियों के वाहन की व्यवस्था वह करेंगे। बलबीर सिंह दंदयान ने कहा है कि बेटियां हम सभी की है, उन्हें बचाने और पढ़ाने के साथ आगे ऊंचाईयों तक ले जाना हम सभी का कर्तव्य है। बलबीर दंदयान ने सरकारों से मांग भी की है कि जब भी इस तरह बड़ी भर्तियां होती है, तो आई कार्ड दिखाकर इन बेटियों के लिए सरकारी बसों में आने जाने की सुविधा भी निशुल्क दी जानी चाहिए। बलबीर दंदयान ने कहा कि यदि बहुत ही गरीब बेटी को यदि यात्रा किराया का भी संकट होगा, तो वह उसकी मदद करेंगे। गौरतलब है कि बलबीर सिंह दंदयान के घर पर पहली पौती जब पैदा हुई थी, तो उन्होंने गुरुद्वारा नाडा साहिब में 21 साल के लिए अखंड पाठ रखवा दिया है। जब भी उनकी पौती जेहनाब का जन्मदिन होगा, तो नाडा साहिब में तीन दिन के लिए अखंड पाठ होगा।
error: Copy... Paste is not allowed...