नगर परिषद में फैले भ्रष्टाचार व शहर में विकास कार्य न होने से नाराज पार्षदों का धरना शुरू

सत्यखबर कैथल (ब्यूरो रिपोर्ट) – नगर परिषद में फैले भ्रष्टाचार व शहर में विकास कार्य न होने से नाराज पार्षदों ने धरना शुरू कर दिया। पार्षद नगर परिषद कार्यालय के मुख्य गेट के सामने ही अनिश्चितकालीन धरने पर बैठ गए हैं। पार्षदों ने आरोप लगाया है कि सिटी स्क्वेयर के निर्माण कार्य में भारी भ्रष्टाचार हुआ है। प्रशासनिक अधिकारी भी जांच धीमी गति से कर रहे हैं। 11 जनवरी को हाउस की मीटिंग में प्रस्ताव पारित कर कार्रवाई की मांग की गई थी, लेकिन उसे भी पूरा नहीं किया गया है। पार्षदों ने सर्वसम्मति से सिटी स्क्वेयर का निर्माण कार्य बंद करवाने की मांग की थी, लेकिन आज भी काम चल रहा है। जब तक मामले की जांच नहीं हो जाती काम बंद होना चाहिए। पार्षदों का आरोप है कि नप अधिकारियों ठेकेदार के साथ मिलकर टेंडर की राशि को बढ़ाया था। पहले टेंडर 30 करोड़ रुपये का था, लेकिन बाद भी मिलीभगत करके उसे 38 करोड़ रुपये कर दिया गया था। पाइल टेस्टिंग में करोड़ों का भ्रष्टाचार हुआ जिसे नप अधिकारी मीटिंग में स्वीकार भी कर चुके हैं।

ये है पार्षदों के मुख्य एजेंडे
सिटी स्क्वेयर मामले में भ्रष्ट अधिकारियों पर कार्रवाई हो। विकास कार्यों को बीच में न रोका जाए और सामान रूप से किया जाए। शहर की सफाई व्यवस्था सुचारू रूप से चले। शहर की सीवरेज व्यवस्था में सुधार होना चाहिए। स्ट्रीट लाइटों की व्यवस्था ठीक होनी चाहिए। प्रधानमंत्री आवास योजना के लाभार्थियों को जल्द से जल्द लाभ दिया जाए। बीपीएल कार्ड की उचित व्यवस्था होना चाहिए। हटाए गए 140 सफाई कर्मचारियों को दोबारा से नौकरी दो। कर्मचारियों का आरोप है कि नए कर्मचारी जो रखे जा रहे हैं उनसे ₹30000 प्रति कर्मचारी रिश्वत के रूप में लिए जा रहे हैं और पुराने कर्मचारियों को नजरअंदाज किया जा रहा है राजनीति से ऊपर उठकर शहर के विकास को प्राथमिकता दी जाए।

इस बार जब हमने नगर परिषद के चेयरमैन सीमा कश्यप से बात करने की कोशिश की तो वह सीट पर उपलब्ध नहीं थी उसकी जगह उनकेे पिताजी सुरेश कश्यप ही नगर परिषद चेयरमैन का सारा कामकाज संभालते हैं उन्होंने बताया पार्षदों ने सिटी स्क्वेयर मामले की शिकायत दी थी इस मामलेे की जांच कैथल के उपायुक्त कर रहे हैं उन्होंने कहा कि अगर कोई सफाई कर्मचारी ₹30000 लेकर नौकरी देने की बात कर रहा है तो उसके पुख्ताता सबूत ला कर दे उसके खिलाफ कार्रवाई की जाएगी

error: Copy... Paste is not allowed...